कोरोना कम हुआ तो बाहर निकल आए महामारी के डर से बिलों में छुपे नेता व समाजसेवी

कोरोना कम हुआ तो बाहर निकल आए महामारी के डर से बिलों में छुपे नेता व समाजसेवी

रिपब्लिक टुडे होशंगाबाद। होशंगाबाद जिले में कोरोना महामारी ने अप्रैल माह में क‌ई लोगों को अपना शिकार बनाया व कोरोना से क‌ई परिवारों ने अपने पिता माता भाई दोस्त जान पहचान के लोगों को भी खोया व कोरोना के अधिक मामले सामने आने से स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं भी प्रभावित भी हुई और आक्सीजन सिलेंडर की कमी ने लोगों को काफी परेशान किया व इस कठिन समय में सिर्फ गिने चुने नेताओं ने व समाजसेवियों ने मानवता का धर्म निभाना का कार्य किया व इस कठिन समय में अपना कर्तव्य निभाने वाले समाजसेवियो ने स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं हो या अन्य सेवाएं दिन रात मेहनत की जिसके फलस्वरूप क‌ई लोगों की जान बचाने में समाजसेवी कामयाब भी हुए नगर व ग्रामीण क्षेत्रों के लोग इन सब के इन कार्यो को कभी नहीं भूल पायेगा।व अपने आप को जनता का सेवक कहने वाले बड़े बड़े पोस्टर चौक चौराहों पर लगाकर हर दिल की धड़कन सहित अच्छी अच्छी बातें लिखकर पोस्टर लगाने वाले समाज सेवी व नेता अपनी जान की फ़िक्र करते हुए घरों में कैद होते हुए नजर आए, लेकिन जैसे ही कोरोना महामारी कम हुई व देखा कि अब कोरोना कम हो गया है तो अपनी राजनीति चमकाने घरों से बाहर निकल आए लेकिन वही दूसरी तरफ आम जनता को भी इन लोगों का असली चेहरा देखने को मिला व इन सभी समस्याओं को देखते हुए आमजनता अपने बहुमूल्य वोट से ज़बाव दे सकती है,ज्ञात हो कोरोना महामारी ने अप्रैल माह में जिस तरह चारो तरफ अपने पैर पसारे थे लोग स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं हो चाहे अन्य जररूते काफी समस्याओ का सामना करना पड़ा था और मेडिकलो पर मास्क व हाथों के दस्ताने तक मिलना बड़ी कठिन बात हो गई थी, आमजनता ने इस वर्ष कोरोना से अपने क‌ई शुभचिंतकों को खोया है जिसकी भरपाई पूरी होना संभव नहीं है लेकिन कुछ लोग एक बार फिर 1 जून से हुए अनलाक के बाद लापरवाही बरतने लगे हैं मास्क व शारीरिक दूरी बनाए रखने की बात को भूल गए हैं वही आमजनता में डर का माहौल है कहीं इन सब लापरवाहियों के चलते अप्रैल माह से हालात दोबारा ना बन जाए शासन प्रशासन को जिले में सख्ती से नियमो का पालन करने की आवश्यकता है।व वही स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं और अधिक मजबूत करने की आवश्यकता है जिससे अगर दोबारा ऐसे हालात बनते हैं तो कैसे उनसे निपटा जाए क्योंकि कोरोना अभी गया नही है और कब तक पूर्णतः खत्म होगा यह भी अभी कहना संभव नहीं सावधानी व वैक्सीन ही इससे बचने व लड़ने का एक मात्र उपाय है अभी शासन प्रशासन को अपनी कमियों को ध्यान में रखते हुए समय रहते पूरी करने की आवश्यकता है।