इलाज में लापरवाही , युवक की मौत , स्वास्थ्य कर्मी सस्पेंड

रिपब्लिक टुडे, सोहागपुर। होशंगाबाद जिले के सोहागपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक डेंटल सहायक की लापरवाही से नगर परिषद के एक कर्मचारी की जान चली गई। दरअसल डॉक्टर संदीप केरकट्टा ने युवक रामकुमार मौर्य के आक्सीजन लेवल कम होने पर इंजेक्शन लगवाने सहित अन्य उपचार हेतु पर्चा बनाया गया था। लेकिन युवक रामकुमार जब अस्पताल स्टाफ के पास गया तो उसे डेंटल सहायक आशीष वर्मा द्वारा घर मे इंजेक्शन लगवाने को कह कर वापिस भेज दिया गया।
जिसके बाद युवक को रास्ते मे ही बेहोशी छा गई, पुनः अस्पताल लाते समय रास्ते मे ही उसकी मौत हो गई, घटना के बाद मामले को सोहागपुर तहसीलदार पुष्पेंद्र निगम ने संभाला, लेकिन घटना के चलते नगर परिषद के कर्मचारियों में रोष व्याप्त है।
उधर गम्भीर लापरवाही पर संज्ञान लेते हुए बीएमओ रेखा गोर के प्रतिवेदन पर सीएमएचओ दिनेश कौशल ने तत्काल प्रभाव से डेंटल सहायक आशीष वर्मा को सस्पेंड कर दिया है। सस्पेंशन अवधि में लापरवाह स्वास्थ्य कर्मी का मुख्यालय पिपरिया सीएचसी तय किया गया।
नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इस प्रकार की लापरवाहियों की सूचनाएं लगातार मिल रही है , बताया जा रहा है कि कोविड पेशेंट को इंजेक्शन लगाने के बदले एक हजार से 2 हजार रुपये की मांग भी स्वास्थ्य कर्मियों ने मांगे है। जिसकी चर्चा और विरोध सोशल मीडिया पर आमजन कर रहे है, जिला कलेक्टर धनंजय सिंह से लापरवाह कर्मचारियों को हिदायत देने की मांग लोगो द्वारा की गई है।